Saturday, October 10, 2015

मन की बात

आदरणीय मित्रों , लम्बे समय से  ब्लॉग लेखन की उपेक्षा करता रहा।  इसके लिए आप सबका क्षमा -प्रार्थी हूँ. एक बार फिर आप सबके प्रेम , आशीर्वाद और मार्गदर्शन की आवश्यकता है. आशा है आप निराश नहीं करेंगे. धन्यवाद !
आपका ,
धीरज 

No comments: